बनारस हिंदू विश्वविद्यालय Banaras Hindu University

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की स्थापना पंडित मदन मोहन मालवीय द्वारा की गई थी, जो एक निष्ठावान, समाज सुधारक, शिक्षाविद और राजनीतिक पैरवीकार थे, जिन्होंने समाज के उत्थान के लिए अपना जीवन लगा दिया। बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की स्थापना का पत्थर 4 फरवरी, 1916 को लॉर्ड होडिंग द्वारा स्थापित किया गया था, जो उस समय वायसराय था।


बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में बीस हजार से अधिक छात्र हैं और 60 से अधिक हॉस्‍टल हैं। इस कॉलेज को एशिया का सबसे बड़ा निजी कॉलेज माना जाता है।

सच कहा जाए, तो इसे पूर्व का ऑक्सफोर्ड कहा जाता है। बनारस हिंदू विश्वविद्यालय का मूलभूत आधार 1300 एकड़ से अधिक भूमि में फैला हुआ है। बीएचयू बनाने के लिए वाराणसी के नेता ने दी थी जमीन बनारस हिंदू विश्वविद्यालय का एक और मैदान मिर्जापुर क्षेत्र के बरक्खा में प्राथमिक आधार से 60 किमी दूर है।

Banaras_Hindu_University
Banaras Hindu University


एक अलगाव पर स्थित है। कॉलेज में चार प्राथमिक प्रतिष्ठान हैं, जिसमें 14 शिक्षण संकाय और 140 विभाग शामिल   शामिल हैं। दुनिया भर के लगभग 34 देशों के छात्र बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में अध्ययन के लिए आते हैं।
इंडिया टुडे-नीलसन भारत के बेस्‍ट 25 मेडिकल कॉलेज सर्वे 2014 की लिस्‍ट में इस कॉलेज को 12वां स्‍थान दिया गया है

Post a Comment

0 Comments