2 अक्टूबर का इतिहास History of 2 October in india and world

2 अक्टूबर की महत्वपूर्ण घटनाएं



1951 प्रसिद्ध समाजवादी एवं राजनीतिक श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने भारतीय जनसंघ की स्थापना की 
1952 आज के दिन सामुदायिक विकास कार्यक्रम की शुरुआत की गई 
1961 महाराष्ट्र के मुंबई में शिपिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया का गठन किया गया 
1971 उस समय के राष्ट्रपति वी वी गिरी ने गांधी सदन नाम से प्रसिद्ध बिरला हाउस देश को समर्पित कर दिया 
1985 दहेज रोक संशोधन अधिनियम को आज ही के दिन अस्तित्व मिलाया गया 
1988 तमिलनाडु के मंडपम और उनके बीच समुद्र के ऊपर सबसे लंबा पुल जनता के लिए खोल दिया गया 2000 रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन 40 यात्रा पर भारत आए 
2001 अफगानिस्तान पर हमले के लिए 19 देशों के संगठन ने हरी झंडी दे दी 
2004 सैनिक भेजें संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने मंजूर किया 
2006 परमाणु ईंधन आपूर्ति मामले पर दक्षिण अफ्रीका ने भारत को समर्थन दिया 2007 दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया के बीच दूसरी शिखर सम्मेलन समाप्त हुई 2012 अज्ञात बंदूकधारियों ने छात्रों की हत्या कर दी 


2 अक्टूबर को जन्मे व्यक्ति

1869 अहिंसा के पुजारी तथा भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जन्म हुआ 
1898 महान स्वतंत्रता सेनानी तथा बिहार के प्रमुख गांधीवादी कार्यकर्ता प्रजापति मिश्र का जन्म हुआ 
1901 देश की आजादी के लिए अपना सब कुछ न्योछावर करने वाले गोकुल लाल असावा का जन्म हुआ 
1904 भारत के द्वितीय प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का जन्म हुआ 
1920 प्रसिद्ध फिल्म निर्देशक का जन्म हुआ 
1933 हिंदी के प्रसिद्ध नाटककार तथा लेखक शंकर शेष का जन्म हुआ 
1942 प्रसिद्ध फिल्म अभिनेत्री आशा पारेख का जन्म हुआ 
1974 भारतीय महिला हॉकी टीम के पूर्व कप्तान प्रीतम सिवाच का जन्म हुआ 
1979 भारतीय सेना के जांबाज सैनिक तथा अशोक चक्र से सम्मानित हंग पन दादा का जन्म हुआ 


2 अक्टूबर को हुए निधन

1906 भारत के विख्यात चित्रकार राजा रवि वर्मा का निधन हुआ 
1964 भारत की प्रख्यात गांधीवादी विचारधारा को मानने वाली सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमारी अमृत कौर का निधन हुआ 
1975 महान स्वतंत्रता सेनानी तथा तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रह चुके भारत रत्न से सम्मानित के रामराज्य का निधन हो गया 
1982 ब्रिटिश हुकूमत के अधीन आईएएस अधिकारी और आजादी के बाद भारत के तीसरे वित्त मंत्री रहे सी डी देशमुख का निधन हो गया 

Post a Comment