आजकल के आधुनिकीकरण के दौर में औद्योगिक और घरेलू  उपयोगों में फिनेल की मांग बहुत ज्यादा है एक ऐसा केमिकल है जो हर घर में उपयोग किया जाता है घर की फर्श धोने से लेकर टाइल्स धोने तक में इसका उपयोग होता है.
फिनेल दो प्रकार के होते हैं एक काला फाइनल होता है और दूसरा सफेद फिनाइल. आजकल कोल्ड प्रोसेस या हॉट प्रोसेस ऐसी दो पद्धतियां है जिनसे फिनल तैयार किया जाता है.

मार्केट

आजकल फइनल बिक्री के लिए सरकारी कार्यालयों अस्पतालों होटल माल लॉजिंग शोरूम्स अस्पताल नगरपालिका आदि जगह पर बहुतायत मात्रा में मांग होती है. फीमेल उत्पादन का खर्च कम होने से होल सेलर्स और रिटेलर्स अच्छी मार्जिन की वजह से कुछ ज्यादा ही इसे बेचते हैं. और चैनल को एक अच्छे फार्मूले से तैयार किया जाए तो व्यवसाय में वृद्धि कोई रोक नहीं सकता.



रा मटेरियल्स

सल्फोनेटेड कस्टर ऑयल, कास्टिक सोडा, पाइन रेजिन, पी आर ओ कस्टर आयल, कार्बोलिक एसिड, पानी और डेड ओ पाइन आदि की जरूरत होती है.

मशीनरी

मिश्रण घोलने के लिए एक बारा मिक्सर, बोतलों का पैकिंग, बैरल, लेबलिंग काटने की मशीन तथा रासायनिक उपकरणों की जरूरत होती है.

इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए 1000 स्क्वायर फीट जगह की जरूरत होती है जिसमें 500 स्क्वायर फीट की इमारत होनी चाहिए इस व्यवसाय को हम तीन लोगों के साथ शुरू कर सकते हैं इसमें एक कुशल तथा दो अकुशल मनुष्य बल की जरूरत लगेगी.
मशीनरी में 140000 रुपए का खर्च होगा , मासिक कच्चा माल ₹40000 का लगेगा.
सारे खर्च निकालने के बाद इस व्यवसाय से वार्षिक 340000 रुपए तक का फायदा होगा.