आधुनिकीकरण के इस दौर में घर, होटल,  भोजनालय, रेस्तरां में सबसे ज्यादा उपयोग में लाया जाने वाला उपकरण मिक्सर ही है. मिक्सर के बिना आज के दौर में होटल में भोजन तैयार करना अत्यंत कष्टकारी कार्य है.
मिक्सर बिजली से चलने वाला एक इलेक्ट्रिक उपकरण होता है  जिसके निर्माण में अत्यंत सतर्कता बरतनी पड़ती है मिक्सर का अधिकतम उपयोग महिलाएं करती है.  मिक्सर का उत्पाद SI प्रणाली के बात किया जाता है और इसकी मंजूरी लेनी पड़ती है.
बाजार में अनेकों कंपनियां है जो मिक्सर सप्लाई करती है उनकी बनावट एक जैसा ही है लेकिन कीमती अलग-अलग होती है ब्रांड के अनुसार.
अगर आप को इस उद्योग में आगे तक जाना है तो अच्छी गुणवत्ता वाली मिक्सर मशीनों का निर्माण कराएं.
मिक्सर प्यार करने के लिए प्लास्टिक की बाड़ी,  इलेक्ट्रिक मोटर, ब्लेड्स, अलग-अलग भाग लगते हैं.


रा मटेरियल


मिक्सर निर्माण उद्योग के लिए आराम मटेरियल से प्लास्टिक की मिक्सर बाड़ी,  एनिमल वायर, माइल्ड स्टील, ब्लेड, कार्बन computentor , स्टंपिंग सिलिकॉन सिट आज की जरूरत होती है.


मशीनरी

इस उद्योग को शुद्ध करने के लिए मशीनरी में  लेथ मशीन, ग्राइंडर, फील्ड वाइंडिंग मशीन, आर्मेचर वाइंडिंग मशीन,     आदि की जरूरत होती है/,


इस उद्योग को शुरू करने के लिए 5000 स्क्वायर फीट जगह की जरूरत होती है जिसमें 3000 स्क्वायर फीट में इमारत होनी चाहिए अगर मनुष्य बल की बात करें तो कुल 25 मनुष्य बल की जरूरत होती है उसमें 15 मनुष्य बल कुशल कारीगर होने चाहिए.
इस व्यवसाय में मशीनरी पर खर्च करीब 1500000 रुपए तक का होता है तथा मासिक कच्चा माल ₹300000 तक का आता है इस प्रकार वार्षिक कच्चा माल ₹3600000 के लगेंगे जिसमें बनी सामग्री 9900000 रूपय में बिकेगी.
इस व्यवसाय में कुल वार्षिक खर्चा 7700000 रुपए का है इसमें कच्चा माल और मनुष्य बल का वेतन आदि संलग्न है.  इस व्यवसाय में वार्षिक 2200000 रुपए तक आसानी से फायदा कमा सकते हैं.