देश के 69 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर दिल्ली के विजय चौक से लाल किले तक देश की आन बान और शान का नजारा ऐतिहासिक दिखाई दे रहा था.
इस वर्ष गणतंत्र दिवस की परेड की सबसे बड़ी खासियत यह थी कि मुख्य अतिथि के रुप में आसियान के 10 देशों के नेता और राष्ट्राध्यक्ष मौजूद रहे
अनेकता में एकता वाले भारत की विरासत आधुनिक युग की उपलब्धियां और हिंदुस्तान के 125 करोड़ देशवासियों को सुरक्षा की गारंटी देने वाली हमारी फौज की क्षमता का भव्य प्रदर्शन हुआ.
इस वर्ष गणतंत्र दिवस परेड में सलामी मंच पर राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और आसियान देशों के राष्ट्राध्यक्ष मौजूद रहे, इसमें खास बात यह थी कि आसियान देशों के नेता जयपुरी चुन्नी ओढ़कर समारोह में हिस्सा लेने आए थे
हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी राजपथ पर भारत की संस्कृति के रंगों और रक्षा क्षेत्र की ताकतों का प्रदर्शन किया गया, हाईटेक हथियारों मिसाइलों जहाजों और भारतीय सैनिक के दस्ते ने देशवासियों को यह एहसास कराया कि वह किसी भी चुनौती से निपटने की ताकत रखते हैं.
कार्यक्रम के अंत में भारतीय वायुसेना के हाईटेक विमानों को राजपथ के ऊपर से हैरान करने वाले कारनामे करते हुए देखा गया.
इस परेड का नेतृत्व लेफ्टिनेंट जनरल आसिफ मिस्त्री ने किया. परेड में भीष्म टैंक ब्रम्होस मिसाइल प्रणाली के साथ स्वाति रडार एवं ब्रिज लेयर टैंक का भी प्रदर्शन किया गया.
स्प्रेड की सबसे खास बात यह थी कि इस परेड में नारी शक्ति का शानदार प्रदर्शन देखने को मिला बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स के महिला मोटरसाइकिल सवार दस्ते ने अपने अद्भुत करतब से सबके दिलों को जीत लिया.
राजपथ पर देश के 69 और गणतंत्र दिवस समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू केंद्रीय मंत्रिमंडल के सदस्य एवं अन्य राजनीतिक दलों के नेता मौजूद रहे